Sat. Feb 27th, 2021

संवाद यात्रा में शामिल गांधीवादी विचारकों का हुआ स्वागत

Share this News

संवाद यात्रा में शामिल गांधीवादी विचारकों का हुआ स्वागत

वीरेश सिंह की रिपोर्ट

एकमा. बिहार संवाद यात्रा में शामिल समाजसेवियों व पर्यावरणविदों का दल शनिवार को अपराह्न बाद एकमा क्षेत्र में स्थित रामाधार सिंह टीचर्स ट्रेनिंग कॉलेज परिसर में पहुंचा. यहां इस यात्रा में शामिल पर्यावरणविद डॉ. राजेंद्र सिंह व गांधीवादी विचारक मनोहर मानव सहित दल में शामिल सभी सदस्यों का शिक्षाविद, पूर्व एमएलसी प्रत्याशी व बीएड कॉलेज के सचिव ई जय प्रकाश सिंह के द्वारा स्वागत किया गया.
इस मौके पर इस टीचर्स ट्रेनिंग कॉलेज के सभागार में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की शहादत दिवस समारोह व संवाद सभा का आयोजन किया गया. कार्यक्रम का उद्घाटन पर्यावरणविद डॉ. राजेंद्र सिंह व गांधीवादी विचारक मनोहर मानव ने संयुक्त रुप से दीप जलाकर किया.

संवाद सभा को संबोधित करते हुए पर्यावरणविद जल पुरुष डॉ राजेंद्र सिंह ने बिहार की भूमि को काफी उपजाऊ बताया. उन्होंने कहा कि जलवायु परिर्वतन का संकट, बाढ सहित नदियों की त्रासदी बिहार के लोग झेलने को विवश होते हैं. गंगा नदी का जल बिहार तक नहीं पहुंच पाता है. अगर पहुंचता है तो वह यूपी व उतराखंड के फैक्ट्रियों का कचरा व नाले का पानी ही होता है. बावजूद इसके आश्चर्य है कि इस विषय पर कभी किसी ने आवाज नहीं उठाई. उन्होंने कहा कि हमारा देश ग्लोबल टीचर रहा है. लेकिन यह तभी तक रहा, जबतब यहां नीर यानी नदी के प्रवाह और नारी यानी माता का सम्मान होता रहा.
डॉ. सिंह ने कहा कि वातावरण निर्माण के लिए शुरुआत हुई यह यात्रा पूरे देश में लगभग चार वर्षों तक चरणबद्ध ढंग से चलेगी. इस दौरान संग्रहित अनुभवों के आधार पर ही पर्यावरण व जल संरक्षण हेतु साकारात्मक पहल होगी.
संवाद सभा को गांधीवादी विचारक मनोहर मानव, स्मृति राज, प्रदीप प्रियदर्शी, कोमी एकता परिषद के सचिव मौलाना शाहिन, सिद्धार्थ, दीपक, राहुल राज आदि ने संबोधित किया.


कार्यक्रम में राजीव कुमार शर्मा, प्रो इंद्रमणि तिवारी, प्रो सपना सिंह, प्रो. सत्यप्रकाश यादव, प्रो प्रवीण यादव, प्रो राजगृह सिंह, भूपेन्द्र प्रसाद सिंह, डॉ सत्यदेव प्रसाद यादव, कामरेड अरूण कुमार, शिक्षक नेता अरविंद कुमार, वीरेंद्र यादव, गौरव सिंह किशन, अमित सिंह, नागेंद्र सिंह आदि मौजूद थे.