Sun. Jan 24th, 2021

सारण में 16 को प्रथम चरण में 9 जगहों पर शुरू होगा कोविड-19 टीकाकरण अभियान

Share this News

सारण में 16 को प्रथम चरण में 9 जगहों पर शुरू होगा कोविड-19 टीकाकरण अभियान

बी.बी.एन-डेस्क

छपरा सारण जिले में 16 जनवरी से कोविड-19 टीकाकरण के प्रथम चरण का अभियान शुरू होगा । इसको लेकर विभाग की ओर से तैयारियां पूरी कर ली गई हैं । राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक मनोज कुमार ने पत्र जारी कर सभी जिलाधिकारी व सिविल सर्जन को आवश्यक दिशा- निर्देश दिया है। जारी पत्र में कहा गया है कि कोविड-19 वैश्विक महामारी के नियंत्रण के लिए 16 जनवरी से प्रारंभ किए जाने वाले टीकाकरण के लिए पूरे राज्य में 300 सत्र स्थलों का निर्धारण किया गया है। वहीं सारण जिले में 9 सत्र स्थल चयनित किए गए हैं। जहां पर कोविड-19 का टीकाकरण शुरू किया जाएगा। टीकाकरण अभियान की सफलता को लेकर जिला स्तर पर कर्मियों को प्रशिक्षण दिया गया है । टीकाकरण अभियान शुभारंभ के दौरान वेबकास्ट भी किया जाएगा। टीकाकरण अभियान शुरू होने से पूर्व मॉक ड्रिल का भी आयोजन किया जाएगा ताकि तैयारियों की आकलन किया जा सके।

इन जगहों पर होगा टीकाकरण:

• सदर अस्पताल ,छपरा
•प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, दरियापुर
•सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, दिघवारा
•सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, गरखा
•सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, मसरख •सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, सोनपुर •समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, एकमा
•प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, मकेर
•अमृत हॉस्पिटल, सारण (निजी)

चुनाव बूथ की तर्ज पर होगा स्थल का चयन:
पत्र के माध्यम से यह निर्देश दिया गया है कि सत्र स्थल का निर्धारण निर्वाचन बूथ के अनुसार ही किया जाए। सत्र स्थल पर कम से कम 3 कक्ष हों हो, पहला कक्ष लाभार्थियों को टीका लेने के लिए वेटिंग एरिया, दूसरा कक्ष टीकाकरण के लिए एवं तीसरा कक्ष टीकाकरण के पश्चात 30 मिनट तक लाभार्थी की के निगरानी के लिए। ऑब्जर्वेशन रूम में पर्याप्त संख्या में बेड एवं कुर्सी की उपलब्धता भी सुनिश्चित की जाएगी।

प्रत्येक सत्र पर 100 कर्मियों को ही किया जाएगा वैक्सीनेशन:

पत्र के माध्यम से निर्देश दिया गया है कि 100 लाभार्थियों की संख्या पर एक दल का गठन होगा। प्रत्येक सत्र पर 100 लाभार्थियों का टीकाकरण किया जाएगा। टीकाकरण दल के सदस्यों की पहचान के लिए अनिवार्य रूप से पहचान पत्र लगाना आवश्यक है। टीकाकरण के लिए लाभार्थियों की सूची सत्र स्थलों पर कोविन पोर्टल के माध्यम से स्वास्थ्य सेवा प्रदाताओं की सूची तैयार रखी खा जाए तथा टीकाकरण के लिए लाभार्थियों के रूप में सभी स्तर के लाभार्थी यथा र्थ स्वास्थ्य कर्मी, सफाई कर्मी, स्वास्थ्य पदाधिकारियों आदि को सामान्य रूप से सम्मिलित किया जाए तथा चयनित सत्र स्थलों पर 16 जनवरी को टीकाकरण के लिए नामित सभी लाभार्थियों की सूची टीकाकरण सत्र स्थल पर 2 दिन पहले अनिवार्य रूप से उपलब्ध करायी या जाए।

लॉजिस्टिक की उपलब्धता सुनिश्चित कराने का निर्देश:

राज्य स्वास्थ समिति के कार्यपालक निदेशक मनोज कुमार ने निर्देश दिया है कि कोविड-19 टीकाकरण से संबंधित आवश्यक लॉजिस्टिक 14 जनवरी तक सत्र स्थल पर उपलब्ध करा दिया जाए तथा कोविड-19 का टीका संबंध कोल्ड चेन पॉइंट पर 15 जनवरी तक मानक तापक्रम को बनाए रखते हुए संधारित किया जाए। सत्र स्थलों पर प्रचार प्रसार हेतु बैनर पोस्टर का प्रदर्शन एवं साज-सज्जा सामग्रियों का समुचित प्रबंध अनिवार्य रूप से किया जाए। टीकाकरण केंद्र पर समुचित मात्रा में हैंड सैनिटाइजर सेनीटाइजर, मास्क आदि की व्यवस्था रखी जाए। ताकि लाभार्थियों एवं कर्मियों के द्वारा हैंड सैनिटाइजर सेनीटाइजर का उपयोग किया जा सके। साथ ही कोविड-19 संक्रमण से बचाव के लिए साफ- सफाई का पूर्ण रूप ध्यान देते हुए पूर्व में निर्गत प्रोटोकॉल का अनिवार्य रूप से पालन सुनिश्चित किया जाए।

बायो मेडिकल वेस्ट मैनेजमेंट की व्यवस्था:

सभी टीकाकरण केन्द्रों पर कोविड टीकाकरण के उपरान्त जनित जैव चिकित्सा अपशिष्टों के प्रबंधन(बायो वेस्ट मैनेजमेंट) के लिए हेतु कलर कोडेड बैग्स पर्याप्त मात्र में उपलब्ध रहेगी। इन सभी थैलियों को टीकाकरण केन्द्रों से निकटतम शीत श्रृंखला स्थल (कोल्ड चेन पॉइंट) तक लाया जायेगा। वहां से सम्बंधित जैव चिकित्सा अपशिष्ट उपचार केंद्र के माध्यम से उठाव कर उनका निष्पादन किया जायेगा।

24 घंटे क्रियाशील रहेगा नियंत्रण कक्ष:

कोविड19 को लेकर पूर्व में जिला एवं प्रखंड स्तर पर 24 घंटे क्रियाशील नियंत्रण कक्ष स्थापित किया गया है। जिसमें रोस्टर वार चिकित्सा पदाधिकारी एवं कर्मियों को तीन पारियों में प्रतिनियुक्त करते हुए से क्रियाशील रखा जाए। कोविड-19 टीकाकरण के लिए सभी चयनित सत्र स्थलों का जिला स्तरीय पदाधिकारी द्वारा अनुश्रवण एवं पर्यवेक्षण किया जाना अनिवार्य है। इसके लिए वरीय पदाधिकारी की प्रतिनियुक्ति आवश्यक रूप से की जाएगी।

कोविड-19 वैक्सीन है सभी के लिए सुरक्षित:

कोविड का टीका सभी प्रमाणित वैक्सीन पूरी प्रक्रिया के गुजरने का बाद ही स्वीकृत की गयी है और पूर्णतया सुरक्षित है। चरणवार तरीके से इसे सभी को उपलब्ध कराने की सरकार की योजना है । टीकाकरण के पश्चात लाभार्थी को किसी प्रकार की परेशानी के प्रबंध के लिए छासत्र स्थल पर एनाफलीसिस किट कीट एवं एईएफआई किट कीट की पर्याप्त संख्या में उपलब्धता सुनिश्चित की जाएगी तथा इसके लिए संबंध टीका कर्मी चिकित्सा को आवश्यक प्रशिक्षण भी दिया जाएगा।

अभियान के एक दिन पहले पदाधिकारी करेंगे मीडिया ब्रीफिंग:

कोविड-19 टीकाकरण अभियान शुरू होने से 1 दिन पहले जिला स्तर के पदाधिकारी के द्वारा अनिवार्य रूप से टीकाकरण की तैयारियों से संबंधित प्रेस ब्रीफिंग का आयोजन किया जाएगा। जिसमें सभी तैयारियों पर मीडिया कर्मियों को जानकारी दी जाएगी।

प्रत्येक 100 लाभार्थी पर होगा टीम का गठन:

• सुरक्षाकर्मी (वैक्सीनेशन पदाधिकारी-1): भीड़-भाड़ को नियंत्रित करने के लिए
• सत्यापनकर्ता (वैक्सीनेशन पदाधिकारी-2): लाभार्थियों को सत्यापित करना चुनाव बूथ अनुसार
• टीकाकर्मी (वैक्सीनेटर पदाधिकारी-1): लाभार्थी का टीकाकरण करना
• सहयोगकर्मी/ उत्प्रेरक(वैक्सीनेशन पदाधिकारी-3) टीकाकर्मी को सहयोग देना, टीकाकरण के पश्चात् 30 मिनट तक लाभार्थी का अवलोकन करना
• सहयोगकर्मी/ उत्प्रेरक(वैक्सीनेशन पदाधिकारी-4) टीकाकर्मी को सहयोग देना, टीकाकरण के पश्चात् 30 मिनट तक लाभार्थी का अवलोकन करना