Wed. Apr 21st, 2021

जिलाधिकारी ने की कोविड व कालाजार के जिलास्तरीय टास्कफोर्स की बैठक

Share this News

जिलाधिकारी ने की कोविड व कालाजार के जिलास्तरीय टास्कफोर्स की बैठक

बी.बी.एन-डेस्क

छपरा,26 फरवरी । समाहरणालय सभागार कक्ष में जिला उपविकास आयुक्त सह प्रभारी जिलाधिकारी अमित कुमार की अध्यक्षता में कोविड-19 टीकाकरण व कालाजार उन्मूलन के जिलास्तरीय टास्कफोर्स की बैठक आयोजित की गयी। जिसमें कोविड-19 टीकाकरण की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि स्वास्थ्य कर्मियों के दूसरे व फ्रंटलाइन वर्करों के पहले डोज टीकाकरण के लक्ष्य को हर हाल में शत-प्रतिशत हासिल करना सुनिश्चित करें। डीएम अमित कुमार ने कहा कि ऐसे स्वास्थ्यकर्मी जिनका 28 दिन पूरा हो गया है वे हर हाल में अपना दूसरा डोज का टीका ले लें। साथ हीं फ्रंटलाइन वर्कर जो अभी तक टीकाकरण नहीं कराएं हैं वे भी टीका ले लें यह उनके लिए अंतिम मौका है। डीएम ने बताया कि प्रथम चरण में 92.74 प्रतिशत लाभार्थियों का टीकाकरण किया गया है| राज्य में सारण चौथा स्थान हासिल हुआ है। वहीं दूसरे चरण में अभी तक फ्रंटलाइन वर्करों की 56.95 प्रतिशत उपलब्धि हासिल हुई है। जबकि स्वास्थ्य कर्मियों के सेंकंड डोज में 49.1 प्रतिशत लक्ष्य प्राप्त हुआ है, काफी कम है। इसे हर हाल में शत-प्रतिशत लक्ष्य हासिल करना है। डीएम ने सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारियों व बीडीओ को निर्देश दिया कि सभी से फॉलोअप करते हुए शत-प्रतिशत टीकाकरण कराना सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि टीकाकरण की प्रगति का प्रतिवेदन शाम में व्हाटसअप के माध्यम उपलब्ध कराना है।

माइक्रो कंटेन्मेंट जोन में हर व्यक्ति की जांच सुनिश्चित करें:
जिलाधिकारी ने कहा कि अन्य राज्यों में कोरोना के मामलों में बढोतरी देखी जा रही है। बिहार में भी पांच जिलों में बढ़ोतरी हो रही है। इसलिए हम सबको सतर्क रहने की जरूरत है। कोरोना के नये पॉजिटिवि केस मिलने पर उस क्षेत्र को माइक्रो कंटेन्मेंट जोन बनाकर उस क्षेत्र में आने वाले सभी व्यक्तियों की कोरोना की जांच करना सुनिश्चित करें और उसकी कंटैक्ट ट्रेसिंग भी करायी जाये। माइक्रो कंटेन्मेंट जोन में सिर्फ अगल-बगल चार घरों को ही शामिल करना है और उन घरों के सभी सदस्यों की जांच की जानी है।

1 मार्च से 60 साल से अधिक व्यक्ति का टीकाकरण:
जिलाधिकारी अमित कुमार ने समीक्षा करते हुए कहा कि 1 मार्च से 60 से अधिक उम्र के व्यक्तियों के टीकाकरण की शुरुआत की जायेगी। इसके लिए माइक्रो प्लान तैयार करें। प्रखंडस्तरीय टास्क फोर्स बैठक करना सुनिश्चित करें। इसमें पंचायती राज के जनप्रतिनिधियों जैसे विकास मित्र, मुखिया, वार्ड सदस्यों का सहयोग लिया जाये। स्वास्थ्य संस्थानों पर आवश्यक मानवबल की व्यवस्था की जाये। भीड़-भाड़ होने के संभावना अधिक है इससे भी निबटने के लिए तैयारी सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी ने कहा कि इसके सफल क्रियान्वयन को लेकर एक दिन पूर्व मॉक ड्रिल भी करा लें ताकि तैयारियों का आकलन किया जा सके।

कालाजार उन्मूलन की ओर अग्रसर है सारण:
इस दौरान जिलाधिकारी ने कालाजार उन्मूलन कार्यक्रम की भी समीक्षा की। जिसमें जिला वेक्टर जनित रोग नियंत्रण पदाधिकारी डॉ. दिलीप कुमार सिंह ने बताया कि जिले में मात्र तीन प्रखंड कालाजार से प्रभावित हैं । जिसमें दरियापुर, गड़खा और परसा शामिल हैं । जिले में कालाजार मरीजों की संख्या में भी कमी आयी है। अब मात्र 34 कालाजार के मरीज हैं । वर्ष 2021 तक कालाजार मुक्त करने का लक्ष्य रखा गया है जिसे हर हाल में पूरा करना है। जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि छिड़काव के लिए माइक्रोप्लान तैयार किया जाये। प्रखंडस्तर पर इसकी मॉनिटरिंग सुनिश्चित की जाये। इसके साथ ही इसमें आशा कार्यकर्ता की सहभागिता भी सुनिश्चित की जाये। इस बैठक में एडीएम डॉ. गगन, सिविल सर्जन डॉ. माधवेश्वर झा, डीएमओ डॉ. दिलीप कमार सिंह, डीआईओ डॉ. अजय कुमार शर्मा, डीपीएम अरविन्द कुमार, आईसीडीएस के डीपीओ वंदना पांडेय, डीसीएम ब्रजेंद्र कुमार सिंह, डीएमएंडई भानू शर्मा, यूनिसेफ एसएमसी आरती त्रिपाठी, एसएमओ डॉ. रंजितेश कुमार, सीफार के डीसी गनपत आर्यन, केयर इंडिया के डीटीएल संजय कुमार विश्वास समेत अन्य स्वास्थ्य कर्मी मौजूद थे।