सेक्स रैकेट पर छापा,चार मर्द लिंग परिवर्तन कराकर सेक्स वर्कर बन गईं.

Share this News

सेक्स रैकेट पर छापा,चार मर्द लिंग परिवर्तन कराकर सेक्स वर्कर बन गईं.

BBJ-NEWS

इंदौर क्राइम ब्रांच और महिला पुलिस ने सेक्स रैकेट पर छापा मारकर जिन थाईलैंड की लड़कियों को पकड़ा है, उनमें से 4 लड़कियों ने चौंकाने वाली बात बताई है. उन्होंने बताया कि जिस्मफरोशी के लिए वे मर्द से औरत बनीं. उन्होंने यहां आने से पहले लिंग परिवर्तन कराया. पुलिस ने जब उनके दस्तावेज और पासपोर्ट खंगाले तो उन पर पुरुष लिखा हुआ है. पुलिस ने फिलहाल सभी को जेल भेज दिया है. मसाज पार्लर से गिरफ्तार युवतियों में से दो लड़कियों को पुलिस पहले भी गिरफ्तार कर चुकी है. उनके पासपोर्ट में कोर्ट में जमा हैं.

इंदौर. इंदौर में हाल ही में पकड़े गए सेक्स रैकेट में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है. थाईलैंड की लड़कियों में से 4 लड़कियां पहले पुरुष थीं. वे लिंग परिवर्तन कराकर भारत आईं. उनके पासपोर्ट पर भी पुरुष लिखा हुआ है. ये सभी स्पा सेंटर में काम के नाम पर जिस्मफरोशी करती थीं. पुलिस ने स्पा संचालक सहित सभी लड़कियों को जेल भेज दिया है.

महिला थाना प्रभारी ज्योति शर्मा ने बताया कि सेक्स रैकेट पर छापे के बाद सभी लड़कियों को हिरासत में लिया गया था. उसके बाद सभी के दस्तावेज जांचे गए. इनमें से विदेशी लड़कियों के पासपोर्ट भी देखे गए. उस वक्त पता चला कि चार लड़कियों के पासपोर्ट पर पुरुष लिखा हुआ था. जब उनसे पूछताछ की तो पता चला कि वे पहले पुरुष ही थीं. उसके बाद लिंग परिवर्तन कराकर सेक्स वर्कर बन गईं.

पुलिस ने बताया कि मसाज पार्लर से गिरफ्तार युवतियों में दो युवतियां पूर्व में भी गिरफ्तार हो चुकी हैं. स्पा सेंटर का मैनेजर संजय वर्मा भी पूर्व मे गिरफ्तार हो चुका है. लड़कियों ने बताया कि जब उन्हें पहले सेक्स रैकेट में पकड़ा तो कानूनी कार्रवाई लिए उनका पासपोर्ट जब्त कर लिया गया. उन्हें जमानत इस शर्त पर मिली कि वे देश छोड़कर नहीं जा सकतीं, जब तक केस खत्म न हो. ऐसे में  जमानत पर बाहर आकर जिंदगी गुजारना चुनौती है. क्योंकि वे बिना पासपोर्ट के अपने देश नहीं जा सकती. इसलिए जिंदगी गुजारने के लिए जिस्मफरोशी से सिवा कोई चारा नहीं बचता.

गौरतलब है कि 6 जनवरी की शाम को क्राइम ब्रांच और महिला थाना ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए विजय नगर थाना इलाके की शगुन आर्केड में चल रहे स्पा पार्लर पर छापा मार था. इंदौर कमिश्नर हरिनारायण चारी मिश्रा ने इसके निर्देश दिए थे. यहां मौके से 18 लोगों को गिरफ्तार किया गया था. इसमें कुछ थाईलैंड की लड़कियां थीं. यहां सर्वसुविधायुक्त अलग अलग केबिन बने हुए थे. केबिन में संदिग्ध अवस्था में युवक युवती मौजूद थे. सभी केबिन में विदेशी युवतियां थीं. पुलिस को देख युवक युवतियां रोने लगे. एक साल पहले इसी बिल्डिंग में क्राइम ब्रांच ने दबिश दी थी. तब भी यहां से विदेशी युवतियों को जिस्मफरोशी करते गिरफ्तार किया था. हालांकि उस वक़्त पुलिस ने मुख्य सरगना को बख्श दिया था. पुलिस की सख्ती कम हुई तो फिर से सरगना ने इसी जगह सैक्स रैकेट शुरू कर दिया.