Sun. Jun 26th, 2022

महाबोधि मंदिर की प्रकाश व्यवस्था अब होगी अंतरराष्ट्रीय स्तर की

Share this News

गया , 29 दिसंबर (हि.स.)| बोधगया मंदिर प्रबंधन समिति ने सिद्धार्थ के इंडेंट इंडिया, एक धर्म फाउंडेशन, हिमाचल प्रदेश और वाना फाउंडेशन, उत्तरखंड के साथ एक समझौता पर हस्ताक्षर किया है। बोधगया में संपूर्ण महाबोधि मंदिर परिसर के लिए एक व्यापक प्रकाश व्यवस्था को डिजाइन कर स्थापित करने के लिए दाता के रूप में दानदाता द्वारा महाबोधि मंदिर को दान के रूप में पूरी लागत के साथ तैयार किया जायेगा | बीटीएमसी कार्यालय के लाइब्रेरी हॉल में आज समझौता ज्ञापन पर अभिषेक सिंह, जिला मजिस्ट्रेट, गया सह अध्यक्ष, बीटीएमसी, प्रशांत वर्मा और वीर सिंह ने सिद्धार्थ के इंडेंट इंडिया की ओर से डॉ अरविंद सिंह एवं बीटीएमसी सचिव एन दोरजी की उपस्थिति में हस्ताक्षर किए गए । इस परियोजना की परिकल्पना तीन चरणों में पूरी की जाएगी । पूर्व-निष्पादन चरण, चरण 1 और चरण 2 में मुख्य मंदिर परिसर को कवर करने वाला होगा और चरण 1 नवंबर 2019 के भीतर पूरा हो जाएगा। बैंकॉक, थाईलैंड से बी-लिट लाइटिंग डिज़ाइन इस परियोजना के लिए तैयार की गयी है जो आधिकारिक तौर पर प्रकाश डिजाइनर भी हैं। वे महाबोधि मंदिर के प्रति अपनी श्रद्धा स्वरूप इसकी पेशकश की और अपनी सेवाएं प्रदान कर रहे हैं। कार्य के दौरान पुरातात्विक, विरासत संरक्षण और तकनीकी संवेदनशीलता पर पूरी तरह से विचार किया जाएगा। कार्य निष्पादन के दौरान दाता द्वारा यह अनुशरण किया जाएगा कि कार्य का निष्पादन यूनेस्को के दिशा-निर्देशों के अनुसार ही हो।