Mon. Jul 15th, 2024

NEET मामले में इस की बड़ी भूमिका! दिल्ली लेकर गयी CBI, सामने आएंगे कई और राज

Share this News

NEET मामले में इस की बड़ी भूमिका! दिल्ली लेकर गयी CBI, सामने आएंगे कई और राज

 

NEET Paper Leak Case: बिहार के बेऊर जेल में बंद नीट पेपर लीक कांड के तीन आरोपियों  सिकंदर कुमार यादवेंदु,अमित आनंद और नीतीश कुमार को सीबीआई की टीम लेकर दिल्ली के लिए रवाना हो गई है. दिल्ली के रायूज एवेन्यू कोर्ट की तरफ से इन आरोपियों की पेशी के लिए वारंट जारी किया गया था. इन तीनों आरोपियों से दिल्ली में भी कड़ी पूछताछ की बाद सामने आ रही है, जिसके बाद कई और राज से पर्दा उठ सकता है.

नीट (NEET) पेपर लीक कांड में सीबीआई ने अपनी तरफ से जांच तेज कर दी है. सीबीआई की अलग-अलग टीम  पेपर लीक कांड का अनुसंधान कर रही है. बिहार के बेऊर जेल में बंद नीट पेपर लीक कांड के तीन आरोपियों  सिकंदर कुमार यादवेंदु, अमित आनंद और नीतीश कुमार को सीबीआई की टीम लेकर दिल्ली के लिए रवाना हो गई है. दिल्ली के रायूज एवेन्यू कोर्ट की तरफ से इन आरोपियों की पेशी के लिए वारंट जारी किया गया था. इन तीनों आरोपियों से दिल्ली में भी कड़ी पूछताछ की बाद सामने आ रही है, जिसके बाद कई और राज से पर्दा उठ सकता है

मिली जानकारी के अनुसार सिकंदर कुमार यादवेंदु, अमित आनंद और नीतीश कुमार इन तीनों आरोपियों को लेकर सीबीआई की टीम दिल्ली के लिए रवाना हुई है. इन तीनों आरोपियों को पटना पुलिस ने ही गिरफ्तार किया था. मई महीने में ही उनकी गिरफ्तारी हुई थी. सिकंदर कुमार यादवेंदु बिहार सरकार का सस्पेंड जूनियर इंजीनियर है. वाहन चेकिंग के दौरान शास्त्री नगर थाने की पुलिस ने इसको गिरफ्तार किया था. सिकंदर कुमार यादवेंदु से पूछताछ के बाद ही पेपर लीक कांड के मास्टरमाइंड संजीव मुखिया का नाम सामने आया था और पटना पुलिस ने तब अपने द्वारा दर्ज की गई प्राथमिकी में संजीव मुखिया को भी नामजद अभियुक्त बनाया था

इन तीनों से सीबीआई की टीम पटना के बेउर जेल में 2 दिनों तक लगातार पूछताछ करती रही है . इस बात की संभावना जताई जा रही है कि सीबीआई की टीम सिकंदर कुमार यादवेंदु, अमित आनंद और नीतीश कुमार को गवाह बना सकती है. वहीं नीट पेपर लीक मामले में सीबीआई ने झारखंड के झरिया से अमित सिंह उर्फ बंटी को गिरफ्तार किया है. बंटी से सीबीआई मुख्यालय में पूछताछ हुई है. गौरतलब है कि चार दिन पहले झारखंड के धनबाद से बंटी के भाई अमन सिंह को सीबीआई ने गिरफ्तार किया था. उस समय उसके साथ बंटी भी मौजूद था, लेकिन बंटी फरार हो गया था. बंटी के बारे में जानकारी सीबीआई को अमन के माध्यम से ही मिली.

सुराग इकट्ठा करने में जुटी CBI

बंटी को देर रात सीबीआई की टीम पटना लेकर आ गई है. पेपर लीक में बंटी और अमन से अन्य परीक्षा माफिया के बारे में भी सीबीआई सुराग इकट्ठा करेगी. जांच में अब तक यही सामने आया है कि इस पूरे पेपर लीक का मास्टरमाइंड संजीव मुखिया है, जिसने रॉकी के माध्यम से इस पूरे लीक कांड को अंजाम दिया था.