Tue. Oct 26th, 2021

पंचायत चुनाव में बायोमेट्रिक पहचान के बाद ही वोट डाल सकेंगे मतदाता, बोगस वोटरों पर होगी कार्यवाई 

Share this News

पंचायत चुनाव में बायोमेट्रिक पहचान के बाद ही वोट डाल सकेंगे मतदाता, बोगस वोटरों पर होगी कार्यवाई 

B.B.J-DESK

छपरा – बिहार में हो रहे पंचायत चुनाव में बोगस वोटिंग रोकने के लिए राज्य निर्वाचन आयोग ने सकारात्मक पहल किया है। इस बार के पंचायत चुनाव में मतदाताओं का बायोमेट्रिक मिलान किया जाएगा इसके बाद ही

मतदाता अपना वोट डाल सकेंगे। राज्य निर्वाचन आयोग के विशेष कार्य पदाधिकारी ने बिहार के सभी जिले के जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह जिलाधिकारी को पत्र प्रेषित करते हुए इस बात की जानकारी दी है कि इस बार के पंचायत चुनाव में मतदाताओं का बायोमेट्रिक पहचान कियाया जाएगा। इसके लिए सभी मतदान केंद्रों पर लैपटॉप या टैब समेत बायोमेट्रिक मिलान के लिए अन्य जरूरी संसाधन उपलब्ध रहेंगे। मतदाताओं को अपना पहचान पत्र दिखाना होगा इसके बाद उनका बायोमेट्रिक मिलान किया जाएगा। बायोमेट्रिक मिलान पूर्ण होने के बाद ही मतदाता अपना वोट डाल सकेंगे।

बोगस वोटिंग पर लगेगा लगाम, बोगस वोटरों पर होगी कार्यवाई

राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा बायोमेट्रिक मिलान के बाद वोट डालने की प्रक्रिया लागू करने से बोगस वोटिंग पर लगाम लग जायेगा। ऐसे में जब कोई मतदाता दुबारा किसी अन्य मतदान केंद्र पर अपना वोट डालने की कोशिश करेगा तो बायोमेट्रिक मिलान करने वाले ऑपरेटर के पास इसका अलर्ट जाएगा कि उक्त मतदाता पहले ही मतदान कर चुका है। ऐसे बोगस वोट डालने की कोशिश करनेवाले लोगों पर भी सुसंगत धाराओं के तहत कार्यवाई की जाएगी।आपको बता दे कि बायोमेट्रिक मिलान की इस प्रक्रिया के लागू हो जाने से बिल्कुल साफ सुथरे तरीके से पंचायत चुनाव होगा और बोगस वोट डालने वालों की दाल नहीं गलेगी।