Sun. Jun 26th, 2022

कोरोना गाइडलाइन का पालन कराने वाले ही उड़ा रहे हैं नियमों की धज्जियां

Share this News

संजय मंडल की रिपोर्ट

बिरौल थाना क्षेत्र में बढ़ते कोरोना संक्रमितों के मामले को देखते हुए। सरकार के द्वारा जारी कोरोना गाइडलाइन का पालन कराने के लिए पुलिस गश्त भी तेज कर दी गई है ।लेकिन चिंता की बात यह है कि जिन  पुलिस अफसरों को इस आदेश के पालन करने की जिम्मेदारी मिली है उनके द्वारा ही उल्लंघन किया जा रहा है।हुआ यूं कि बिरौल थाना क्षेत्र के सुपौल बाजार स्टेशन रोड में एक किराना दुकान में गुरुवार को कुछ उपद्रवियों ने दुकान में उत्पात मचाया इस दौरान उपद्रवियों ने दुकान के मालिक भरत महतो के  दो कर्मियों को जमकर पिटाई कर दी।इसकी सूचना पर बिरौल थाना के एएसआई विजय यादव दल बल के साथ घटना स्थल पर पहुचे जहां ये पुलिस अधिकारी ना तो मास्क पहने थे ना ही शाररिक दूरी बना रहे थे।जब नियम के पालन कराने वाले ही लापरवाह हो जाए तो आम आदमी का क्या। इस तरह से हम कोरोना महामारी पर कैसे काबू पा सकते है।यही सवाल सुपौल बाजार के लोगो के मन मे है।तथा लोग पुलिस पर सवालिया निशान लगा रहे है।सवाल यह है की जब पुलिस अधिकारी कोरोना गाइडलाइन का पालन नहीं करेंगे तो आम आदमी से क्या उम्मीद है। कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से बढ़ने के बावजूद आम आदमी के साथ साथ पुलिस के अधिकारी भी मास्क नही पहनने को तैयार है । इसका जीता जागता उदाहरण बिरौल के एक एएसआई को देख सकते है।एक और खास बात यह भी रही कि पुलिस को विभागीय नियमानुसार अपनी पिस्टल होल्स्टर (लेदर केस) में रखनी चाहिए थी, लेकिन बॉलीवुड की फिल्मों की तरह सिंघम बनने के चक्कर में वह सरकारी नियम भी भूल गए।