Thu. Sep 16th, 2021

छात्र संघर्ष मोर्चा का 14 सितंबर को होने वाले जेपी विश्वविद्यालय घेराव स्थगित: अमित नयन

Share this News

छात्र संघर्ष मोर्चा का 14 सितंबर को होने वाले जेपी विश्वविद्यालय घेराव स्थगित: अमित नयन

रिपोर्ट-अभिषेक आनंद

छात्र संघर्ष मोर्चा ने आगामी 14 सितंबर को जेपी-लोहिया एमएन रॉय, गोखले समेत विचारकों के विचारों को स्नातकोत्तर के पाठ्यक्रम से बाहर करने को लेकर होने वाले विश्वविद्यालय घेराव को स्थगित करने का फैसला सर्व सम्मति से लिया है।

प्रेस विज्ञप्ति जारी कर एआईएसएफ जिला सचिव अमित नयन ने बताया कि 14 सितंबर को होने वाले जेपी- लोहिया, गोखले, दयानंद सरस्वती समेत तमाम विचारकों एवं क्रांतिकारियों को स्नातकोत्तर के प्रथम सेमेस्टर से मुख्य रूप से दरकिनार करने को लेकर छात्र संघर्ष मोर्चा का 14 सितंबर को होने वाले जेपी विश्वविद्यालय घेराव को स्थगित करने का फैसला लिया गया है। इसकी वजह बताते हुए एआईएसएफ जिला सचिव अमित नयन ने कहा कि 2 दिन पूर्व राज्यपाल सह कुलाधिपति फागू चौहान राजभवन में सुबे के सभी विश्वविद्यालय के

कुलपतियों के साथ बैठक में जेपी-लोहिया के विचारों को पाठ्यक्रम में शामिल करने का निर्देश दिया। इस मामले में विधि सम्मत कार्रवाई का भी महामहिम ने आदेश दिया।इस महत्वपूर्ण आदेश की वजह से छात्र संघर्ष मोर्चा विश्वविद्यालय के घेराव को स्थगित करता है। अमित नयन ने कहा कि यह फरमान छात्र संघर्ष मोर्चा (एआईएसएफ,SFI, छात्र-राजद)की एक क्रांतिकारी फतह है। छात्र संघर्ष मोर्चा उम्मीद करता है कि पूण: जेपी- लोहिया के विचारों को स्नातकोत्तर के पाठ्यक्रम में जोड़ा जाएगा। एसएफआई राज्य अध्यक्ष शैलेंद्र यादव, छात्र राजद के क्रांतिकारी नेता प्रिंस कुमार सिंह, एआईएसएफ जिला अध्यक्ष रूपेश कुमार यादव,

एसएफआई जिला मंत्री सद्दाब मजहरी जेपी लोहिया को पाठ्यक्रम में शामिल करने को लेकर आशान्वित हैं।हालांकि इसे विवि के पास पाठ्यक्रम में जोड़ने संबंधित आधिकारिक सूचना अभी नहीं मिली है। अधिकारिक सूचना सीघ्र मिलने की उम्मीद है।कुलपतियों के बैठक में शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी भी उपस्थित थे।इसके साथ हीं छात्र संघर्ष मोर्चा जेपीयू में तमाम शैक्षणिक भ्रष्टाचार के मद्देनजर अगले महीने जेपी विश्वविद्यालय का घेराव भी करेगा।