Tue. Oct 26th, 2021

लोकमहाविद्यालय में शिक्षक और शिक्षकेत्तर कर्मियों ने कार्य बहिष्कार कर महाविद्यालय में ताला बंदी कर दी।

Share this News

लोकमहाविद्यालय में शिक्षक और शिक्षकेत्तर कर्मियों ने कार्य बहिष्कार कर महाविद्यालय में ताला बंदी कर दी।

रिपोर्ट – नवनीत कुमार मिश्रा

लोकमहाविद्यालय में शिक्षक और शिक्षकेत्तर कर्मियों ने कार्य बहिष्कार कर महाविद्यालय में ताला बंदी कर दी। कर्मियों ने प्राचार्य की उपस्थिति तथा वार्ता नहीं किये जाने तक कार्य बहिष्कार का अल्टीमेटम दिया है। धरना  का नेतृत्व प्रो.उदय कुमार सिंह ने किया। महाविद्यालय परिसर में शिक्षक एवं शिक्षकेत्तर कर्मचारी संघ के बैनर तले धरना किया गया। शिक्षक और शिक्षकेत्तर कर्मियों ने प्राचार्य को

हटाने की मांग विश्वविद्यालय से की है। शिक्षक कर्मियों ने बताया कि प्राचार्य ने गुपचुप तरीके से अपने ही सात सगे सबन्धियों की नियुक्ति लिपिक के रूप में कर लिया है। वे पुराने नियुक्त लिपिकों को छोड़ नवनियुक्त लिपिकों से ही वित्तीय लेनदेन का काम ले रहे हैं। जो वित्तीय अनियमितता की ओर ईशारा करता है। नवनियुक्त लिपिक पुराने लिपिकों के साथ दुर्व्यहार भी कर रहे हैं। दो दिनों पूर्व महाविद्यालय के लिपिक बच्चा राय के साथ

नवनियुक्त लिपिक ने दुर्व्यहार किया था। जिसपर शिक्षक एवं शिक्षकेत्तर कर्मियों में रोष है। धरना पर बैठे शिक्षकों ने बताया कि किसी भी पद पर नियुक्ति के लिए विश्विद्यालय की अनुमति आवश्यक है। फिर अनुमति के आलोक में विज्ञापन व नियुक्ति की पारदर्शी प्रक्रिया अपनाना होता है। जबकि लोकमहाविद्यालय में सात लिपिकों की नियुक्ति की जानकारी किसी को भी नहीं है।