Fri. Jan 27th, 2023

इंजीनियरिंग के छात्र के सुसाइड मामले का न्यायिक जांच हो आर एस ए

Share this News

इंजीनियरिंग के छात्र के सुसाइड मामले का न्यायिक जांच हो आर एस ए

BBJ-NEWS

सारण- आर एस ए के पदाधिकारियों के द्वारा प्रेस वार्ता कर लोक नायक जयप्रकाश नारायण इंजीनियरिंग कॉलेज छपरा में इंजीनियरिंग के छात्र सुसाइड मामले में न्यायिक जांच की मांग की गई। छात्र नेताओं के द्वारा कहा गया कि पिछले वर्ष दिसंबर महीने से ही इंजीनियरिंग महाविद्यालय में आंदोलन चल रहा है। अगर महाविद्यालय प्रशासन सजग रहता तो इस तरह के आंदोलन को बातचीत से सुलझाया जा सकता था। लेकिन आज के शिक्षकों को छात्र जब आंदोलन करते हैं तो उनकोदुुश

न के रूप में टारगेट किया जाता है। जो कि लोकतांत्रिक संस्था में कहीं से ठीक नहीं है। जिसके नाम पर महाविद्यालय हैं ।वहीं छात्र आंदोलन के जनक के रूप में जाने जाते हैं ।उन्हीं के नाम पर बना महाविद्यालय में आंदोलनकारी छात्रों को इतना प्रताड़ित किया जा रहा है कि जिसका परिणाम छात्र अपना सुसाइड कर लेते हैं। जब व्यवस्था में बैठे हुए लोग जब बेलगाम हो जाते है तो छात्र आंदोलन होते हैं । आंदोलन के बाद व्यवस्था को सुधार कर लिया जाता है।जबकि महाविद्यालय प्रशासन को व्यवस्था सुदृढ़ करना चाहिए ना कि आंदोलनकारियों को दबाने के लिए प्रताड़ित करना चाहिए। जिसका परिणाम देखने को मिल रहा है। कई तरह के मामले इस मामले में उठ रहे हैं, जिसको पर्दा डालने के लिए महाविद्यालय प्रशासन लगातार प्रयास कर रहा है, सारे बिंदुओं को जांच करने के लिए एक न्यायिक जांच कमेटी बनाई जाए ,ताकि निष्पक्ष जांच हो सके । दोषियों को सजा मिल सके।

ऐसी करा सजा दिया जाए कि नजीर बन जाए। एक जिम्मेवार छात्र संगठन के नाते हम मांग करते हैं कि अब वह छात्र तो इस दुनिया में नहीं रहा ।उसके परिवार जनों को एक करोड़ रुपिया एवं सरकारी नौकरी दिया जाए ,ताकि उस परिवार का गुजारा हो सके। महाविद्यालय के छात्र- छात्राओं का जिस शिक्षक पर आरोप है । उस शिक्षक को तत्काल वहां से हटाया जाए तब तक कि जब तक की जांच पूरा नहीं हो जाता। प्रेस वार्ता में प्रमुख रूप से आर एस ए नेता सह राम जयपाल महाविद्यालय छात्रसंघ के अध्यक्ष मनीष कुमार सिंह, आर एस ए नेता सह जगलाल चौधरी महाविद्यालय छपरा के अध्यक्ष विवेक कुमार गोलू,आर एस ए सारण जिला छात्रा प्रमुख सह जयप्रकाश महिला महाविद्यालय छात्र संघ के अध्यक्ष शिवानी पांडे , शालू कुमारी आदि उपस्थित थे।