मैनेजमेंट का पढ़ाई करने गए बिहार की स्टूडेंट की चीन में हुई हत्या

Share this News

मैनेजमेंट का पढ़ाई करने गए बिहार की स्टूडेंट की चीन में हुई हत्या

B.B.J-DESK

चीन में गया के स्टूडेंट की मौत मामले में मृतक के परिजनों और शहर के लोगों का शक सही निकला। अमन की मौत किसी बीमारी से नहीं हुई है, बल्कि उसकी हत्या की गई है। इस बात की पुष्टि सोमवार की रात को भारतीय दूतावास ने ई-मेल के जरिए की है। दूतावास ने अमन के परिजनों को हत्या की जानकारी ई-मेल के जरिए दी है। हत्यारा चीन में रहने वाला गैर-चीनी व्यक्ति है। अमन चीन की तियान जीन फॉरेन यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी यूनिवर्सिटी से इंटरनेशनल बिजनेस स्टडी की पढ़ाई कर रहा था। वह सेकेंड ईयर का छात्र था और यूनिवर्सिटी के हॉस्टल में ही रहकर पढ़ाई करता था। कोर्स के पूरा होने में अभी तीन साल और बचे हुए थे।

शहर के पुलिस लाइन के अंबेडकर नगर के रहने उदय पासवान के इकलौता बेटा अमन नागसेन चीन की तियान जीन फॉरेन यूनिवर्सिटी में पढ़ने गया था। वहां वह बिजनेस स्टडी का कोर्स कर रहा था। उसके घरवालों का कहना था कि शुक्रवार की रात यूनिवर्सिटी के शिक्षक का फोन आया था। फोन पर उसने सूचना दी थी कि अमन की मौत हो गई है। अमन की मौत कैसे हुई। इस बात की जानकारी उन्होंने नहीं दी थी। पूछने पर भी उन्होंने नहीं बताया था। इस खबर से पूरा परिवार दहल उठा था।

अमन नागसेन के चाचा और अन्य परिजनों ने बताया कि शुक्रवार को अमन की मौत की जानकारी मिली, जिसके बाद चीन में स्थित भारतीय दूतावास को हमलोगों ने ई-मेल किया। ई मेल का जबाव सोमवार की रात को मिला। उस ई-मेल में अमन की हत्या की जानकारी दी गई है। साथ ही यह बताया गया है कि उसकी हत्या में शामिल एक आरोपी को गिरफ्तार किया गया है। साथ ही यह भी बताया गया कि कागजी कार्रवाई करने के बाद शव भारत भेजा जाएगा। पीड़ित परिजनों ने विदेशों में पढ़ने वाले भारतीय बेटा-बेटियां की सुरक्षा पर सवाल खड़ा किया है।