Mon. May 27th, 2024

सरपंचों का आरोप कहा, स्थानीय प्रशासन नहीं करती ग्राम कचहरी के सदस्यों के सहयोग

Share this News

जहाँगीरपुर मध्य विद्यालय प्रांगण में लगायी गयी जिला विधिक जागरूकता शिविर

सरपंचों ने लगाया बड़ा आरोप कहा, स्थानीय प्रशासन नहीं करती ग्राम कचहरी के सदस्यों के सहयोग

सारण-सोनपुर प्रखंड के जहांगीरपुर मध्य विद्यालय के प्रांगण में बिहार राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण पटना के द्वारा जिला विधिक जागरूकता शिविर सारण के तहत आयोजन रविवार को किया गया। इस आयोजन में जिला विधिक सेवा प्राधिकार छपरा के सचिव जितेश कुमार ,पैनल के अधिवक्ता जनार्दन दुबे एवं नजरे इमाम लिपिक मौजूद थे। इस शिविर में कमर्शियल मामलों का निपटारा कैसे हो ,ग्राम पंचायत के मामलों दीवानी एवं फौजदारी को जिला स्तर पर या अनुमंडल के बेंच पर निराकरण कैसे किया जाए ,इन विषयों पर चर्चा हुई। इसी बीच इंश्योरेंस ,ऋण ,सरकारी बैंक, निजी बैंक के ऋण संबंधी मामलों का निराकरण, रेलवे से संबंधित विवाद तथा जमीनी विवाद का निपटारा एवं अनुमंडल जिला राष्ट्रीय लोक अदालत तक किसी भी स्तर पर निपटारे का तरीका व बिजली बिल जिसका ज्यादा हो उसको भी लोक अदालत पर ऑनलाइन सेटलमेंट का तरीका आदि विषयों के बारे में बताया गया।

इस शिविर में सोनपुर प्रखंड सरपंच संघ के अध्यक्ष भरत सिंह उपस्थित पदाधिकारियों को उन्होंने ग्राम कचहरी के समस्यओं को भी अवगत कराते हुए उन्होंने कहा की पंचायती राज व्यवस्था में ग्राम कचहरी में सुख सुविधा के साथ सुरक्षा की भी व्यवस्था हो , तो निश्चित ही ग्राम कचहरी में न्याय पूर्ण व स-समय धरातल के साथ कानूनी प्रक्रिया के तहत निष्पक्षता के साथ छोटे- छोटे धरेलू विवाद या अन्य मारपीट मामले सहित अन्य किसी प्रकार की समझौता या निर्णय दिया जा सकता है लेकिन स्थानीय प्रशासन व थाना के पुलिस पदाधिकारी के सहयोग नहीं मिलने के कारण छोटी-छोटी बाद विवाद भी थाने में पहुंच जाती है । सरपंचों को सुरक्षा नहीं मिलने के कारण उन्हें अनेक तरह की कठिनाई होती है ।

यहां तक कि सरपंच ,पंच एवं पक्ष और विपक्ष को बैठने की कोई स्थान नहीं मिली है । सरपंच अपने आवास पर ग्राम कचहरी लगाकर पंचायत वासियों के छोटी-छोटी विवादों का निपटारा करते हैं । उन्होंने यह भी कहा कि ग्राम कचहरी में कई पंचायतों में ग्राम कचहरी सचिव नहीं है । कई पंचायतों में न्याय मित्र नहीं है अगर है भी तो भी अपने कार्यों को पूरी इमानदारी के साथ कार्य नहीं करते हैं । पंच भी ग्राम कचहरी में सभी उपस्थित नही हो पाते है जिसके कारण पंचायत में आने वाले विवाद के निपटारे करने में काफी समय लग जाती है। सभी सरपंचों की सुरक्षा व ग्राम कचहरी में मिलने वाली सुख सुविधाओं की व्यवस्था करने के साथ स्थानीय प्रशासन की सहयोग करने की मांग की है । इस मौके पर उपस्थित रहे परमानंदपुर के सरपंच शशि कांत ओझा ,गोविंदचक सरपंच मुकेश कुमार ,कसमर सरपंच रमाकांत महतो ,जहांगीरपुर सरपंच अरुण कुमार सिंह ,भरपुरा सरपंच कविता देवी व प्रखंड के बड़ा बाबू रमाकांत सिंह , कचहरी सचिव मीना कुमारी ,शिल्पा कुमारी ,विकास मित्र ममता शिप्रा ,मीणा,लक्ष्मी,रेणु,अमरेश , सहित भारी संख्या में विकास मित्र व प्रखंड कर्मी भाग लिया।