Mon. May 27th, 2024

पवन सिंह ने लोकसभा चुनाव लड़ने का किया ऐलान, बिहार के इस दिग्गज नेता को देंगे चुनौती

Share this News

भोजपुरी फिल्म अभिनेता पवन सिंह ने चुनाव लड़ने का एलान कर दिया है। पवन सिंह ने खुद एक्स पर इसकी जानकारी दी। पवन सिंह काराकाट लोकसभा सीट से चुनाव लड़ेंगे। पवन सिंह ने एक्स पर लिखा- मैंने अपनी मां से वादा किया था की मैं इस बार चुनाव लड़ूंगा। मैंने निश्चय किया है कि मैं 2024 का लोकसभा चुनाव काराकाट बिहार से लड़ूंगा। जय माता दी।

भोजपुरी फिल्म अभिनेता पवन सिंह ने चुनाव लड़ने का एलान कर दिया है। पवन सिंह ने खुद एक्स पर इसकी जानकारी दी। पवन सिंह काराकाट लोकसभा सीट से चुनाव लड़ेंगे। पवन सिंह ने एक्स पर लिखा- “माता गुरुतरा भूमेरू” अर्थात माता इस भूमि से कहीं अधिक भारी होती हैं और मैंने अपनी मां से वादा किया था की मैं इस बार चुनाव लड़ूंगा। मैंने निश्चय किया है कि मैं 2024 का लोकसभा चुनाव काराकाट, बिहार से लड़ूंगा। जय माता दी”।

“माता गुरुतरा भूमेरू” अर्थात माता इस भूमि से कहीं अधिक भारी होती हैं और मैंने अपनी माँ से वादा किया था की मैं इस बार चुनाव लड़ूँगा । मैंने निश्चय किया है कि मैं 2024 का लोकसभा चुनाव काराकाट,बिहार से लड़ूँगा ।

आपको बताते चलें कि भारतीय जनता पार्टी ने अपनी पहली सूची में पवन सिंह काे पश्चिम बंगाल के आसनसोल सीट से अपना उम्मीदवार बनाया था, लेकिन सिने स्टार ने चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया था। इसके पीछे निजी कारणों का हवाला दिया था। इधर, एक बार फिर पवन सिंह ने रोहतास के काराकाट लोकसभा सीट से निर्दलीय चुनाव लड़ने की घोषणा कर राजनीतिक हल्कों में सरगर्मी तेज कर दी है।

उपेन्द्र कुशवाहा से होगा पवन सिंह का मुकाबला

मालूम हो कि एनडीए ने काराकाट सीट से उपेन्द्र कुशवाहा को चुनाव मैदान में उतारा है। जबकि, महागठबंधन से माले के उम्मीदवार राजाराम चुनाव मैदान में हैं। सिने स्टार के पूर्व में आरा समेत अन्य जगहों से भी लड़ने की चर्चा हुई थी।

पवन सिंह का वीडियो हुआ वायरल

बीते दिनों पवन सिंह का एक वीडियो खूब वायरल हुआ। जिसमें वे कह रहे थे कि चुनाव तो वे लड़ेंगे, लेकिन कब, कहां, कैसे और किस पार्टी से लड़ना है, यह बाद की बातें हैं।

काराकाट लोकसभा सीट

बता दें कि काराकाट लोकसभा सीट इस समय जेडीयू के खाते में है। यहां से 2019 के लोकसभा चुनाव में महाबली सिंह चुनाव जीते थे। उन्हें 3,98,408 वोट मिले। जबकि रालोमो (राष्ट्रीय लोक मोर्चा) प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा को 3,13,866 मत हासिल हुए थे। वहीं, बीएसपी के राज नारायण तिवारी को 21,715 वोटों से संतोष करना पड़ा था।

काराकाट संसदीय क्षेत्र 2009 में अस्तित्व में आया। यह क्षेत्र चावल उत्पादन के लिए जाना जाता है। इस क्षेत्र में लगभग 400 राइस मिलें हैं। इसके पूर्व यह बिक्रमगंज लोकसभा क्षेत्र के नाम से जाना जाता था।