टीचर्स ऑफ बिहार के “पांच साल, बेमिसाल” पूरे होने के उपलक्ष्य में बिहार के शिक्षकों ने जलाया घी का दीया

Share this News

अपने पांचवें स्थापना दिवस के अवसर पर टीचर्स ऑफ़ बिहार ने जारी किया एमडीएम कैलकुलेटर सहित कई कार्यक्रम

पटना- शिक्षा एवं शिक्षकों से जुड़े सभी हिताधिकारियों के द्वारा किये जा रहे शैक्षिक प्रयासों को साझा करने, नवाचारों से सीखने और लागू करने का अवसर और पहचान प्रदान करने के उद्देश्य से 20 जनवरी 2019 को संजय कुमार सिंह (भा.प्र.से.) राज्य परियोजना निदेशक, बिहार शिक्षा परियोजना परिषद पटना, तकनीकी विशेषज्ञ शिवेंद्र प्रकाश सुमन के तकनीकी सहयोग से पटना जिले के शिक्षक शिव कुमार के एवं अन्य 200 गणमान्य अतिथियों की उपस्थिति में पटना स्थित होटल चाणक्य में बिहार की सबसे बड़ी प्रोफेशनल लर्निंग कम्युनिटी टीचर्स ऑफ बिहार की शुरुआत की गई।
वर्तमान में टीचर्स ऑफ बिहार के विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से लाखों शिक्षक जुड़कर अपने नवाचारी शिक्षण कौशल का आदान-प्रदान कर बिहार के शैक्षिक परिदृश्य को राष्ट्रीय पटल पर एक अलग पहचान स्थापित करने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन कर रहे हैं।


विदित हो कि 20 जनवरी 2024 को टीचर्स ऑफ बिहार के “पांच साल, बेमिसाल” पूरे होने के उपलक्ष्य में पांचवें स्थापना दिवस के अवसर पर ऑनलाइन गूगल मीट के माध्यम से बिहार के शिक्षक एवं शिक्षिकाओं ने घी के दिए जलाकर अपने बिहार के शैक्षिक बेहतरी के लिए संकल्प लिया। 20 जनवरी से 20 फरवरी तक चलने वाले इस स्थापना महोत्सव की शुरुआत बिहार राज्य प्रार्थना के रचयिता एम. आर. चिश्ती रचित टीचर्स ऑफ बिहार गीत के माध्यम से की गई। टीचर्स ऑफ बिहार के पांचवे स्थापना महोत्सव के अवसर पर टीचर्स ऑफ बिहार के फाउंडर शिव कुमार के द्वारा बिहार के शिक्षकों के लिए टीचर्स ऑफ बिहार से संबंधित बारम्बार पूछे जाने वाले प्रश्न (एफएक्यू) टीचर्स ऑफ बिहार के वेबसाइट पर जारी किया गया है। जिसमें सभी प्रश्नों के उत्तर की सटीक व्याख्या की गई है।


टीचर्स ऑफ बिहार के पांचवें स्थापना दिवस के अवसर पर बिहार के शिक्षकों के लिए पीएम पोषण शक्ति निर्माण योजना के सफल क्रियान्वयन एवं सुलभ दस्तावेजीकरण हेतु कैमूर जिले के शिक्षक रिजवान रिजवी की परिकल्पना के आधार पर इनके पुत्र अमीर हमजा नालंदा के द्वारा विकसित एवं तकनीकी विशेषज्ञ शिवेंद्र प्रकाश सुमन के तकनीकी सहयोग से एमडीएम कैलकुलेटर का निर्माण किया गया है। इस कैलकुलेटर के माध्यम से अद्यतन साप्ताहिक मेन्यू के अनुसार तिथि एवं बच्चों की वर्गवार संख्या के आधार पर सामग्री की मात्रा एवं राशि की गणना का परिणाम प्राप्त कर सकते हैं। एक महीने तक चलने वाली इस स्थापना महोत्सव में बिहार के कैमूर जिले के शिक्षक धीरज कुमार के द्वारा टैलेंट हंट सर्च प्रतियोगिता के अंतर्गत लोक गीत प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है जिसमें वर्ग 1 से 5 ,6 से 8 एवं 9 से 10 के बच्चें भाग ले सकेंगे। इससे संबधित विस्तृत जानकारी के लिए टीचर्स ऑफ बिहार के वेबसाइट पर उपलब्ध है।


साथ ही महोत्सव में पदाधिकारियों, शिक्षकों एवं अभिभावकों से अनुरोध किया गया कि वो अपने शुभकामना संदेश भी टीचर्स का बिहार की वेबसाइट पर टेस्टिमोनियल टैब में अवश्य प्रेषित करें। इस स्थापना महोत्सव के अवसर पर सिवान जिले की शिक्षिका अनुपमा प्रियदर्शिनी एवं किशनगंज जिले की शिक्षिका निधि चौधरी के निर्देशन में काव्य सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा। जिसमें पूरे बिहार के शिक्षक एवं शिक्षिका भाग ले सकेंगे। स्थापना दिवस पर ऑनलाइन माध्यम से आयोजित कार्यक्रम में टीम लीडर्स, विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के मॉडरेटर, विभिन्न जिले के डिस्ट्रिक्ट मेंटर्स ने संबोधित किया। स्थापना महोत्सव कार्यक्रम का संचालन मुजफ्फरपुर जिले के मुरौल प्रखंड स्थित उत्क्रमित माध्यमिक विद्यालय ईटहा की नव नियुक्त शिक्षिका दीप शिखा पाण्डेय ने किया। इसकी जानकारी टीचर्स ऑफ बिहार के प्रदेश प्रवक्ता अररिया जिले के शिक्षक रंजेश कुमार एवं प्रदेश मीडिया संयोजक पूर्वी चंपारण जिले के शिक्षक मृत्युंजय ठाकुर ने संयुक्त रूप से दी।